आखिर क्यों अल्ट्रासाउंड के पहले हमे एक जेल लगाया जाता है?

दोस्तों, आपने या आपके किसी संगे सम्बन्धी ने कभी न कभी अल्ट्रासाउंड करवाया ही होगा। अल्ट्रासाउंड करने से पहले त्वचा पर एक ख़ास तरह का जेल भी लगाया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं की वो जेल क्या होता है और वो क्यों लगाया जाता है?

दरअसल यह जेल पानी और प्रोपलीन ग्लाइकोल से बना एक ख़ास तरह की जेल होता है जिसे ईसीजी जेल इलेक्ट्रोड जेल या सोनोग्राफी जेल भी कहा जाता है । अल्ट्रासाउंड इमेजिंग मशीन जो साउंड वेव्स जनरेट करती है उन वेव्स को शरीर के अंदर अंगों तक पहुंचाने का काम यह जेल करती है ! अगर यह जेल नहीं लगाया जाए तोह अल्ट्रासाउंड ध्वनि तरंगों का हवा के माध्यम से शरीर मैं ट्रेवल कर पाना मुश्किल होता है इसलिए भ्रूण की साफ़ तस्वीर बनाने के यह जेल मशीन और आपके शरीर के बीच की हवा को भर देता है।

यही कारण भी है कि महिलाओं को प्रग्नेंनसी के शुरुआती दौर में पूरे मूत्राशय के साथ ही अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए कहा जाता है। भरा हुआ मूत्राशय और अल्ट्रासाउंड जेल का एक कपलिंग एजेंट के रूप में काम करने की वजह से ही टेक्नोलॉजिस्ट आपके बच्चे की एक साफ़ तस्वीर प्रदर्शित करने में सक्षम हो पाता है। तो कुछ समझे?

Share this article :
Facebook
Twitter
LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WRITTEN BY
Factified
FOLLOW ON
FOLLOW & SUBSCRIBE