दलदल में फसना कैसा होता और इस से कैसे निकलते हैं
Home सामान्य ज्ञान दलदल में फसना कैसा होता और इस से कैसे निकलते हैं

दलदल में फसना कैसा होता और इस से कैसे निकलते हैं

दोस्तोँ क्या आप भी कईं और लोगों की तरह यही मानते हैं की दलदल में फंस जाने पर आप ज़मीन में धसते जाते हैं और मदद न मिलने की सूरत में यह आपको निगल भी सकती है?अगर हाँ तो आपको बतादु की ऐसा सिर्फ फिल्मों में होता है क्यूंकि दलदल या पहर जिसे अंग्रेजी में क्विकसैंड कहते हैं यह तब बनता है जब किसी जगह रेत में पानी की मात्रा बहुत ज्यादा हो जाती है यह नमी रेत के कणो को आपस में टिके नहीं रहने देती और इसीलिए इसके ऊपर खड़े होने पर आप नीचे की और धसने लगते हैं।

हालाँकि इसकी सतह ऊपर से देखने पर आपको सॉलिड लगेगी लेकिन असल में ऐसी होती नहीं। अगर आप भी कभी दलदल में गिर जाते हैं तो चिंता न करें क्यूंकि यह आपको पूरी तरह से नहीं निगलने वाला और इस से निकलना भी उतना मुश्किल नहीं होता जितना हमे फिल्मों में दिखाया जाता है। दलदल शायद ही कभी कुछ फीट से ज्यादा गहरा होता है । किसी ज्यादा गहराई वाले दलदल में भी आप अपनी कमर से ज्यादा नहीं डूब सकते क्योंकि ह्यूमन बॉडी की डेंसिटी क्विकसैंड यानी दलदल से कम होती है। यहाँ क्विकसैंड की डेंसिटी लगभग 2 ग्राम प्रति मिलीलीटर होती है वहीँ ह्यूमन बॉडी की डेंसिटी सिर्फ 1 ग्राम प्रति मिलीलीटर है।

इसि कारण दोस्तों यह मुमकिन ही नहीं की आप दलदल में पूरा डूब जाएँ हाँ फसने पर किसी लकड़ी वगैरह की मदद से आप इस से बहार निकल सकते हैं आप इस बारे में पहले क्या सोचते थे नीचे कमेंट करके बताना और अगर आज कुछ भी नया सिखने को मिले तो post को लाइक किये बिना भी मत जाना।

16 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

इन्होंने पानी के अंदर रह के कर लिए पूरे 6 रुबिक क्यूब solve!

दोस्तों रुबिक क्यूब एक मुश्किल पहेली है जिसे सुलझाने में कई बार घंटों लग जाते हैं| लेकिन क…