Home शिक्षा पंखों में लगे ब्लेड्स की संख्या कम या ज्यादा क्यों होती है?

पंखों में लगे ब्लेड्स की संख्या कम या ज्यादा क्यों होती है?

पंखे तो सबके घरों में होंगे लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि पंखों में लगे ब्लेड्स की संख्या कम या ज्यादा क्यों होती है? अक्सर आपने भारतीय घरों में 3 ब्लेड वाले सीलिंग फैन देखे होंगे. लेकिन क्या आपको पता है विदेशों में और ठंडे देशों में 4 ब्लेड वाले पंखे इस्तेमाल किये जाते है अगर नहीं, तो आइये मिलकर जानते हैं इसका कारण क्या है। अमेरिका और ठंडे देशों में 4 ब्लेड वाले पंखे एयर कंडीशनर (एसी) के सप्लीमेंट के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं जिनका मकसद एसी की हवा को पूरे कमरे में फैलाना होता है। चूंकि 4 ब्लेड वाले पंखे 3 ब्लेड वाले पंखे की तुलना में धीमे चलते हैं इसलिए इनकी वजह से यह काम आसान हो जाता है!

वहीं भारत में पंखे का इस्तेमाल सिर्फ ठंडी हवा लेने के लिए किया जाता है। चूंकि 3 ब्लेड वाला पंखा हल्का होता है और तेज चलता है इसलिए भारत में 3 ब्लेड वाला पंखा ज्यादा इस्तमाल होता है। छोटे कमरों के लिए 3 ब्लेड वाले पंखे काफी फायदेमंद होते हैं। यह कमरे के चारों कोनों तक हवा पहुंचाते हैं। साथ ही चार ब्लेड्स वाले पंखों की अपेक्षा तीन ब्लेड वाले पंखे कम दाम में भी मिल जाते हैं।चार ब्लेड्स वाले पंखों की तुलना में तीन ब्लेड वाले पंखे से बिजली की बचत भी होती है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

इन्होंने पानी के अंदर रह के कर लिए पूरे 6 रुबिक क्यूब solve!

दोस्तों रुबिक क्यूब एक मुश्किल पहेली है जिसे सुलझाने में कई बार घंटों लग जाते हैं| लेकिन क…